Gambling escape walkthrough

  1. Qual É A Aposta Máxima No Candy Monsta Nos Cassinos Online?: So, while the games top base game and free spins payouts (2,500 coins and 200x your stake) are modest when compared with most contemporary games, theyre ideal for novice players or those who are looking to make incremental gains on a restricted or smaller bankroll.
  2. Πώς Διεκπεραιώνονται Οι Πληρωμές Wild Joker Hot Σε Μια Κινητή Συσκευή; - All winnings earned from the spins are subject to a 35x wagering requirement, which must be met before you can withdraw any winnings.
  3. Télécharger Gratuitement Les Jeux De Casino Starburst : California card rooms mostly feature poker games, although many also offer other card games like blackjack and baccarat.

Brisbane slots au

Kein Einzahlungsbonus Im Eye Of Horus Casino
While you wont find this on every site, there are plenty of opportunities out there for you to cash in on a crypto bonus.
Is The Eye Of Horus Megaways Game Available At Live Casinos In Denmark
While not impossible, I believe small-screen device users would soon become too frustrated to continue, as I did.
Like any skill it will take time and effort to become a proficient and dangerous poker player.

Slot machine crystal rift play for free without registration

Quelles Sont Les Différences Entre Le Jeu De Casino Fire Archer Et Les Autres Jeux De Cartes?
The blackjack-style competition took place right on the famed Vegas Strip.
Quel Est Le Gain Minimum Crazy Time?
As weve already said, this is a retro experience, with the win lines of this free Red Seven Xtreme slot taking you back to pixelated graphics and flat imagery, it might not sound pretty, but boy is it stimulating.
Excalibur Unleashed Playing Multiple Tables

Connect with us

छत्तीसगढ़

बारनवापारा अभ्यारण्य में सफारी के दौरान पर्यटकों को दिख रहें वन्यप्राणी, सैकड़ों की संख्या में बार का नजारा देखने पहुँच रहें सैलानी

avatar

Published

on

(चंदन जायसवाल – सवांददाता, कसडोल )
कसडोल। बलौदाबाजार वन-मंडल के अंतर्गत वाइल्डलाइफ सेंचुरी बारनवापारा अभ्यारण्य (Bar Navapara Wildlife Sanctuary) किसी परिचय का मोहताज नहीं रहा।इसकी लोकप्रियता भी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है।पर्यटकों की सुविधा के मद्देनजर भी यहाँ काम-काज होते रहा है।वैसे भी यह अभ्यारण अपने में प्राकृतिक छटा को संजोए हुए अनेक जीव-जंतुओं से भरा-पूरा जंगल है।

रेंजर एवं अधीक्षक कार्यालय बारनवापारा अभ्यारण्य
रेंजर एवं अधीक्षक कार्यालय बारनवापारा अभ्यारण्य
वन-भ्रमण करने से अपने अनेक विविधताओं से परिचित कराते हुये मनोरम दृश्य अपने आप को अलग अनुभव का अहसास दिलाता है।और मन को मंत्र मुग्ध करते हुये अपने आप को विशिष्ट भी बनाता है।नियम-कायदे भी यहाँ महत्व रखते हैं।लिहाजा 1 नवंबर से 15 जून या 30 जून तक पर्यटकों के लिए खुलने वाले इस अभ्यारण्य में वन-भ्रमण करते समय स्वतंत्र रूप से विचरण करते अनेक जंगली जानवरों को देख पर्यटक प्रसन्नचित्त होते हैं। 244.66 वर्ग किलोमीटर की क्षेत्रफल में फैला बारनवापारा अभ्यारण्य दो विभक्त बार और कोठारी परिक्षेत्रों में यहाँ चारों ओर हरियाली एवं प्रदूषण मुक्त व सालभर तापमान बहुत सुखद होने के कारण सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

बारनवापारा अभ्यारण्य में सफारी के दौरान पर्यटकों को दिख रहें वन्यप्राणी
बारनवापारा अभ्यारण्य में सफारी के दौरान पर्यटकों को दिख रहें वन्यप्राणी
हालिया जानकारी है कि इस सेंचुरी में भ्रमण के दौरान तेंदुए का दीदार भी कई सैलानियों को हुआ है।पर्यटकों का भी इससे उत्साहित व आकर्षित होना स्वाभाविक ही है।इसके अलावा इस बीच गौर,भालू,बायसन,चीतल,मोर,सांभर,कोठरी,जंगली सुअर व अन्य जीव दिख रहे हैं।रेंजर सुनील खोब्रागड़े ने बताया कि नवम्बर 2023 से 24 जनवरी 2024 तक कुल 7035 पर्यटक आ चुके हैं।अभी माह फरवरी से जून 2024 तक और भी पर्यटक आयेंगे।पर्यटक बारनवापारा अभ्यारण्य में वनभ्रमण/सफारी हेतु पिछले 4 वर्षों की तुलना में इस वर्ष 03 माह के अवधि में लगभग 60% पर्यटक बारनवापारा आ चुके हैं।

यह भी पढ़ें   बुलेट में लगने वाली मॉडिफाई साइलेंसर के विषय में पुलिस अधिकारियों ने ली दुकान संचालकों व एजेंसियो की बैठक

सैकड़ों की संख्या में बार का नजारा देखने पहुँच रहें सैलानी
सैकड़ों की संख्या में बार का नजारा देखने पहुँच रहें सैलानी
प्रतिवर्ष पर्यटकों की संख्या में वृद्धि हो रही है।पर्यटकों की सुविधा का पुरा-पुरा ध्यान रखते हुए वनभ्रमण/सफारी हेतु 25 जिप्सी 6 सीटर एवं 02 जेनॉन 12 सीटर सफारी हेतु वाहन उपलब्ध कराये गये हैं।पर्यटक ग्राम बारनवापरा में पर्यटकों के रूकने हेतु व्यवस्था की गई है। जिसमे 34 कमरे पर्यटक ग्राम बारनवापारा में उपलब्ध है साथ ही साथ उत्तम भोजन व्यवस्था हेतु रेस्टोरेंट का भी संलाचन किया जा रहा है।आमोद-प्रमोद के लिए पर्यटन ग्राम में झूला,ओपन थिएटर,इंटरप्रिटेशन सेंटर मौजूद है।

यह भी पढ़ें   पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय के 12 शोधार्थी पीएचडी, 23 मेधावी स्वर्ण पदक से हुए सम्मानित

पर्यटक ग्राम, प्रकृति के बीच घर
पर्यटक ग्राम, प्रकृति के बीच घर
वही इस अभ्यारण्य में घूमने आने वाले पर्यटकों को जंगल भ्रमण कराने वाले प्रशिक्षित गाईड और जिप्सी ड्राइवर से जानकारी चाही तो उन्होंने बताया कि 27 जनवरी शनिवार को 3 तेंदुआ अलग-अलग रूटों में जंगल सफारी करते समय दिखा है।आगे बताया कि इस सीजन में 1 नवंबर से अब तक कई बार अच्छा खासा तेंदुआ के साथ-साथ बायसन,भालू,चीतल,सांभर,लकड़बग्घा सहित कई अनेक मौजूद जानवर दिखते रहे हैं।खुला जंगल है 30 किलोमीटर का राउंड रहता है।घूमते-घूमते कहीं न कहीं कोई भी जंगली जानवर दिख सकता है और दिखता ही है।

सैलानियों को भ्रमण के दौरान दिखा तेंदुआ
सैलानियों को भ्रमण के दौरान दिखा तेंदुआ
बस वन भ्रमण करते समय सैलानियों को ओपन जंगल और जू-घर के बीच अन्तर को समझना होगा।वन भ्रमण करते समय धैर्य और शांति बनाये रखना जरूरी होता है।तभी आप जंगल-भ्रमण का आनंद पा सकते है।यह पर्यटक स्थल स्वच्छ और सुंदर होने के कारण सबको अपनी और आकर्षित करता है।वहीं यहाँ कई नियमित पर्यटक भी आते हैं।विदेशी भी यहाँ पर्यटन पर आते है

छत्तीसगढ़

उप मुख्यमंत्री श्री अरुण साव लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं के प्रशिक्षण में हुए शामिल

avatar

Published

on

सीएसआईआर-सीआरआरआई द्वारा सहायक अभियंताओं, अनुविभागीय अधिकारियों और उप अभियंताओं के लिए तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन

रोड सेफ्टी ऑडिट और सड़क सुरक्षा से संबंधित विषयों पर दिया जा रहा प्रशिक्षण

बिलासपुर. 27 फरवरी 2024. उप मुख्यमंत्री अरुण साव आज सवेरे लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं के प्रशिक्षण में शामिल हुए। रायपुर के सिविल लाइन स्थित नवीन विश्राम भवन में सीएसआईआर-सीआरआरआई द्वारा लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंताओं, अनुविभागीय अधिकारियों और उप अभियंताओं के लिए तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया है। विभागीय अभियंताओं को रोड सेफ्टी ऑडिट और सड़क सुरक्षा से संबंधित विषयों पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

उप मुख्यमंत्री तथा लोक निर्माण मंत्री अरुण साव ने तीन दिवसीय प्रशिक्षण के शुभारंभ सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि सड़कें गुणवत्तापूर्ण होने के साथ ही सुरक्षित भी होने चाहिए। सड़कों के निर्माण के दौरान सुरक्षा संबंधी सभी उपायों और प्रावधानों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें   CG Breaking: आकाशीय बिजली गिरने से 2 लोगों की मौत

उन्होंने उम्मीद जताई कि विभाग के अभियंताओं के लिए यह प्रशिक्षण काफी उपयोगी होगा और वे रोड सेफ्टी ऑडिट तथा सड़क सुरक्षा की बारीकियों एवं व्यावहारिक व्यवस्थाओं को और ज्यादा बेहतर तरीके से जान-समझ पाएंगे। प्रमुख अभियंता के.के. पिपरी और वरिष्ठ विभागीय अधिकारी भी प्रशिक्षण के शुभारंभ सत्र में मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि देश में बढ़ती दुर्घटनाओं और उनमें मरने वालों की अत्यधिक संख्या को देखते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने रोड कमेटी ऑन रोड सेफ्टी का गठन किया है। सड़क दुर्घटनाओं के अन्य कारणों के साथ सड़क निर्माण में होने वाली त्रुटियां भी महत्वपूर्ण कारण हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने दुघर्टनाओं में कमी लाने के लिए सड़कों के निर्माण व संधारण के लिए जिम्मेदार एजेंसियों को उचित प्रशिक्षण के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें   फरवरी में नहीं होगा छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र

इसके परिपालन में लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंताओं, अनुविभागीय अधिकारियों एवं उप अभियंताओं के लिए सी.आर.आर.आई., नई दिल्ली के माध्यम से यह प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। विभाग के 55 सहायक अभियंताओं/अनुविभागीय अधिकारियों और 95 उप अभियंताओं को इसमें प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रशिक्षु अभियंताओं को फील्ड विजिट भी कराया जाएगा।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

ईवीएम मशीनों के प्रदर्शन को मिल रहा अच्छा response रिस्‍पॉन्‍स्‌

avatar

Published

on

प्रतिदिन सैकड़ों लोग समझ रहे कार्य प्रणाली

बिलासपुर, 27 फरवरी/भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए जिला निर्वाचन कार्यालय सहित सभी तहसील कार्यालयों में ईवीएम मशीन का प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोग इसका अवलोकन का इसकी कार्य प्रणाली से अवगत हो रहे हैं। जिला निर्वाचन कार्यालय में इसके लिए दो कर्मचारियों की तैनाती की गई है।

प्रतिदिन सैकड़ों लोग मशीन को देखकर दिलचस्पी के साथ इसकी जानकारी ले रहे हैं। संपूर्ण मशीन का सेट इस प्रकार जमाया गया है कि जिस प्रकार मतदान के दौरान ईवीएम मशीन का उपयोग किया जाता है। मशीन के सेट में कंट्रोल यूनिट, बैलट यूनिट और वीपी पेट मशीन लगा हुआ है।

यह भी पढ़ें   आज दुर्ग और राजनांदगांव जिले के दौरे रहेंगे सीएम बघेल, विभिन्न कार्यक्रमों में होंगे शामिल

लोगों को पूरी प्रक्रिया की जानकारी इन कर्मचारियों द्वारा दी जाती है । लोकसभा चुनाव के मद्देनजर इन मशीनों का प्रदर्शन किया जा रहा है ताकि लोग मशीनों की जानकारी हासिल कर बेझिझक अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें। कोई भी व्यक्ति कार्यालयीन समय में आकर मशीनों का अवलोकन कर प्रक्रिया समझ सकते हैं।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

सुने मकान का ताला तोड़कर चोरी करने वाले आरोपी चोर को रतनपुर पुलिस द्वारा चंद घंटो में किया गया गिरफतार

avatar

Published

on

सोने- चाँदी के जेवर, टी.व्ही., रिसीवर, आधार कार्ड, भूमि संबंधी दस्तावेज, आयुष्मान कार्ड, बैंक पासबुक, नगदी रकम 21900 रूपये कुल कीमती 67900 रूपये।
गिरफ्तार आरोपी- विश्राम प्रसाद धीवर पिता गेंदराम धीवर उम्र 38 वर्ष निवासी मोहतराई थाना रतनपुर

मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि दिनाँक 25/02/2024 को प्रार्थी रामचन्द्र धीवर निवासी मोहतराई का थाना उपस्थित आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनाँक 15/02/2024 को प्रार्थी अपने घर में ताला लगाकर रिश्तेदार के घर में शादी कार्यक्रम में ग्राम पोंड़ी थाना सीपत चला गया था। दिनाँक 25/02/2024 को प्रार्थी का लड़का जो अलग रहता है, वह प्रार्थी को फोन कर बताया कि घर का ताला टुटा पड़ा है।

यह भी पढ़ें   फरवरी में नहीं होगा छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र

तब प्रार्थी अपने घर वापस आकर देखा तो घर के अंदर रखे टीना के पेटी में रखे सोने- चाँदी के जेवर, टी.व्ही., रिसीवर, आधार कार्ड, भूमि संबंधी दस्तावेज, आयुष्मान कार्ड, बैंक पासबुक, व नगदी रकम 26500 रूपये को कोई अज्ञात व्यक्ति चोरी कर ले गया है। कि रिपोर्ट पर थाना रतनपुर में अपराध पंजीबद्ध कर त्वरित कार्यवाही करते हुये थाना प्रभारी रतनपुर के दिशा निर्देशन पर टीम गठित कर दिनाँक 26/02/2024 को संदेही विश्राम प्रसाद धीवर को अभिरक्षा में लेकर हिकमत अमली एवं कड़ाई से पुछताछ करने पर उक्त मशरूका को चोरी करना स्वीकार किया तथा चोरी गये नगदी रकम मे से कुछ रकम खर्च करना बताने से आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें   Chhattisgarh: BSF जवान ने खुद को गोली मारकर कर ली खुदकुशी

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी रतनपुर देवेश सिंह राठौर, सउनि चन्द्रकांत डहरिया, प्र.आर. सत्यप्रकाश यादव आर. अजय भारद्वाज, कीर्ति पैकरा, आशीष राठौर, रूपचंद धलेन्द्र की विशेष भूमिका रही।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending