Monster cryptocurrency casino dq11

  1. ¿Cómo Se Juega El Gold Cash Big Spins En Un Casino Físico: With this Stake rakeback promotion, youll receive coins back from each bet you make, whether in Stake Casino or in Stake Sports.
  2. Casinos Avec Les Meilleurs Gains Power Of Gods Hades - NZ casinos that give an 80 free spin bonus for min.
  3. Everything You Need To Know About Objectives In Fishin Frenzy Jackpot King: Those who are not afraid to take risks will be able to get incredibly generous prizes in no time.

Where did crypto pokies originate

Was Sind Die Strategien Des Red Hot Bbq-Casinospiels
The Bills are going into the game on the back of an impressive win over Sydney Steelers while the Broncos also won, beating the Carolina Panthers.
Jouer À Lucky Cup  Sur Tablette
There are benefits to the prepaid card though, including its compatibility everywhere MasterCard is accepted and secure nature.
We counted the total number of games available on each version with Apple offering 32, Android offering 33, and Windows having the smallest library of games with a total of 25.

Win tokens play free bingo

Quelle Est La Stratégie D'secrets Of The Forest Pour Réduire Les Pertes?
In addition to the app, you can place bets using the BetMGM Australia website.
Jaká Jsou Videa O Hře Joker Boom Plus
And of course have all other metrics in mind, which you can read more about on our page dedicated to the top live casino sites in general.
¿Hay Alguna Versión Gratuita De 40 Wild Fire 6 En Línea

Connect with us

स्वास्थ

Health Tips: झुर्रियां छीन रही है आपके चेहरे की खूबसूरती? इस चीज से वापस जवां होगी स्किन….

avatar

Published

on

Jaggery As Wrinkle Removing Food: आमतौर पर जब चेहरे पर झुर्रियां आने लगती है तो ये समझा जाता है कि इस इंसान की उम्र बढ़ने लगी है और इस पर बुढ़ापे का असर आने लगा है, लेकिन आजकल अन्हेदी डाइट, गड़बड़ लाइफ स्टाइल, जरूरत से ज्यादा मेकअप और केमिकल बेस्ड ब्यूटी प्रोडक्ट की वजह से ऐसा कम उम्र के लोगों के साथ भी होने लगा है. इसके लिए आप अगर मेडिकेशन या योग का सहारा नहीं लेना चाहते तो एक खास घरेलू उपाय कर सकते हैं.

सेहत के लिए फायदेमंद है गुड़

हम बात कर रहे हैं गुड़ की जो हमारी जुबान पर गजब की मिठास ले आता है. इससे आमतौर पर सर्दी-खांसी और जुकाम से छुटाकारा तो मिलता ही है, साथ ही बॉडी की इम्यूनिटी भी बूस्ट हो जाती है. लेकिन इस बात को काफी कम ही लोग जानते हैं कि गुड़ खाने से हमारी स्किन में गजब का निखार आ सकता है और साथ ही कम उम्र में होने वाली झुर्रियों से भी छुटकारा मिल सकता है.

यह भी पढ़ें   'हमर लैब्स’ ने बढ़ाई जांच की सुविधा, अब हुई तक 57.46 लाख जांच

गुड़ में पाए जाने वाले न्यूट्रिएंट

गुड़ में पोषक तत्वों की कोई कमी नहीं होती, इसमें विटामिन ए और विटामिन बी, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, जिंक, मैग्नेशियम और फास्फोरस की भरपूर मात्रा पाई जाती है. इसमें मौजूद विटामिन स्किन के लिए नेचुरल क्लींजर का काम करते हैं. वहीं गुड़ खाने से हमारा शरीर अंदरूनी तरीके से साफ होता है. आप चाहें तो गुड़ को हल्के गर्म पानी से साथ पी सकते हैं.

गुड़ की मदद से दूर करें झुर्रियां

अगर आप चाहते हैं कि चेहरे पर नजर आने वाली झुर्रियां गायब हो जाएं या एजिंग के असर में भी कमी हो तो इसके लि आप एक चम्मच गुड़ में एक चुटकी हल्दी एक चम्मच अंगूर का रस, चम्मच ब्लैक टी और गुलाबजल मिला लें और इससे तैयार किए गए पेस्ट को करीब 15 मिनट के लिए चेहरे पर लगा लें. आखिर में चेहरे को साफ पानी से धो लें.

यह भी पढ़ें   BJP की ‘महतारी हुंकार रैली’ में शामिल हुईं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

दाग-धब्बे भी होंगे दूर

चेहरे के दाग-धब्बे को दूर करने के लिए आप गुड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं. एक चम्मच गुड़ का पाउडर लें, अब उसमें एक चम्मच नींबू का रस, चुटकीभर हल्दी, एक चम्मच टमाटर का रस मिक्स कर लें. इसके पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट के लिए सूखने के लिए छोड़ दें. अब चेहरे को पानी से धो लें. अगर रेगुलर इस प्रॉसेस को अपनाएंगे तो दाग धब्बे दूर हो जाएंगे.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

स्वास्थ

चीन के बच्चों में फैल रही रहस्यमयी बीमारी, भारत सरकार ने जारी की एडवाइजरी, मॉक ड्रिल के आदेश

avatar

Published

on

हाइलाइट्स
* चिकित्सा विभाग ने जारी किया अलर्ट
* चीन के बच्चों में फैल रही बीमारी को लेकर दिए निर्देश
* सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन और दवाइयों की व्यवस्था करने का आदेश

जयपुर : चीन के बच्चों में फैल रही रहस्यमयी बीमारी को लेकर राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी किया है. बच्चों में निमोनिया और इन्फ्लूएंजा के मामले बढ़ने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से राज्यों को एडवाइजरी भेजी गई है. इसके अलावा राज्य के सभी अस्पतालों में मॉक ड्रिल व निरीक्षण करवाने की गाइडलाइन भी जारी की गई है. हालांकि प्रदेश में अभी तक इस बीमारी का कोई भी केस सामने नहीं आया है.

यह भी पढ़ें   अम्बिकापुर : झोला छाप डॉक्टर से न कराएं ईलाज, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने लोगो से की अपील

प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल के अधीक्षक अचल शर्मा ने बताया कि चीन में इनफ्लुएंजा फैल रहा है जिसे हम बुखार, खांसी, जुकाम कहते हैं. इस प्रकार का वायरस जो खास तौर से वहां के बच्चों में ज्यादा देखने को मिल रहा है. इसमें खांसी, जुकाम, बुखार की शिकायत लेकर मरीज अस्पतालों में पहुंच रहे हैं. इस दिशा में भारत सरकार और राज्य स्तर पर भी गाइडलाइन जारी की गई है, जिसको लेकर एसएमएस अस्पताल पूरी तरीके से तैयार है. हमारे पास विशेषज्ञों की पूरी टीम है एवं बेड की पर्याप्त व्यवस्था है. यदि किसी व्यक्ति को खांसी, जुकाम या बुखार है तो तुरंत उपचार लें और अन्य व्यक्तियों से दूर रहें.

यह भी पढ़ें   पुलिस महानिरीक्षक के स्थानांतरण पर कार्यालयीन स्टाफ द्वारा दी गई भावभीनी विदाई

Continue Reading

स्वास्थ

बिहार में फाइलेरिया, एल्बेंडाजोल की दवा खाने से 150 बच्चे बीमार, मची अफरातफरी

avatar

Published

on

गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज से बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां फाइलेरिया और कीड़ी की एल्बेंडाजोल दवा खाने से तीन स्कूलों के 150 से ज्यादा बच्चे बीमार हो गये हैं.

बीमार बच्चे पंचदेवरी प्रखंड के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय, मध्य विद्यालय भठवा और मध्य विद्यालय बगहवा के बताये जा रहें हैं. एंबुलेंस और निजी वाहनों से सभी बीमार बच्चों को पंचदेवरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है, जहां डॉक्टरों की टीम इलाज में जुटी हुई है.

हालांकि यहां के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ उपेंद्र प्रसाद ने सभी बीमार बच्चों की हालत खतरे से बाहर बतायी है. बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से 10 फरवरी से 27 फरवरी तक के लिए फाइलेरिया अभियान और कीडी की दवा एल्बेंडाजोल खिलाने का अभियान शुरू किया गया है. आशा वर्करों को स्कूलों में जाकर बच्चाें को दवा खिलानी है, लेकिन शिक्षकों के द्वारा ही बच्चों को दवा खिलायी जा रही थी.

यह भी पढ़ें   Health Tips: पानी पीते समय न करें ये गलतियां, बिगड़ सकती है सेहत!

नियम और जागरूकता के अभाव में बीमार हुए बच्चे

घटना को लेकर डॉक्टरों का कहना है कि दवा खिलाने के नियम और जागरूकता के अभाव में बच्चे बीमार हुए. बच्चों के खाना खाने के बाद ही दवा देनी है.फिलहाल जिला मुख्यालय से भी स्वास्थ्य टीम को मौके के लिए रवाना किया गया है. वहीं, दूसरी तरफ एक-एक कर तीन स्कूलों में बच्चों के बीमार होने से अभिभावक आक्रोशित हैं और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के प्रति नाराजगी जताकर जांच कराने की मांग कर रहें हैं.

भागलपुर में भी बीमार हुए बच्चे

इधर, स्थिति को देखते हुए कटेया थाने की पुलिस और थानाध्यक्ष अभिषेक कुमार, बीडीओ राहुल रंजन, स्वास्थ्य प्रबंधक कुमार गौरव पहुंचकर मामले की जांच में जुटे हुए हैं. मिली जानकारी के अनुसार बिहार के भागलपुर जिले में भी फाइलेरिया की दवा खाने से बच्चों के बीमार होने का मामला सामने आया है.

Continue Reading

देश

ब्रेस्ट कैंसर के मरीजों को बड़ी राहत, सरकार फ्री में मुहैया कराएगी 4.2 लाख की दवा

avatar

Published

on

स्तन कैंसर से जूझ रही मरीजों के लिए राहत की खबर. अब गोवा मेडिकल कॉलेज, बंबोलिम में स्तन कैंसर का इलाज कराने वाले मरीजों को फिक्स्ड-डोज वाली ‘पर्टुजुमाब-ट्रास्टुजुमाब’ नाम की दवा मुफ्त में मिलेगी.

वैसे इस दवा की कीमत 4.2 लाख रुपये है.

स्वास्थ्य मंत्री विश्वजित राणे ने बताया कि गोवा देश का पहला राज्य है, जो इस दवा को अपने इलाज प्रोटोकॉल में शामिल कर रहा है और मरीजों को इसे मुफ्त दे रहा है. इस दवा को रविवार को विश्व कैंसर दिवस के मौके पर जीएमसी में लॉन्च किया गया. यह इंजेक्टेबल दवा HER2-पॉजिटिव स्तन कैंसर रोगियों को पारंपरिक घंटे भर चलने वाले इंट्रावेनस ड्रिप के विकल्प के रूप में दी जाती है. यह ना सिर्फ मरीजों को आराम देता है, बल्कि दवा को शरीर में पहुंचाने में भी ज्यादा कारगर है.

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि यह दवा ‘फेसगो’ ब्रांड नाम से रोश हेल्थ केयर द्वारा पेश की गई है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जीएमसी में पात्र मरीजों को यह दवा मुफ्त में उपलब्ध कराएगी. रविवार को स्वास्थ्य मंत्री ने डीन डॉ. शिवानंद बंदेकर और अन्य वरिष्ठ डॉक्टरों की मौजूदगी में ऑन्कोलॉजी विभाग की प्रमुख डॉ. अनुपमा बोरकर के देखरेख में एक मरीज को यह दवा दी.

यह भी पढ़ें   छत्तीसगढ़ में बीते 10-12 दिनों में 16.25 लाख से ज्यादा लोगों ने लगवाए प्रिकॉशन डोज

विश्वजित राणे ने कहा कि हमें जीएमसी में पर्टुजुमाब-ट्रास्टुजुमाब फिक्स्ड ड्रग कॉम्बिनेशन शुरू करने की घोषणा करते हुए गर्व है, जो स्तन कैंसर के इलाज में एक महत्वपूर्ण सफलता है. यह नया तरीका न केवल मरीजों को आराम देता है बल्कि कैंसर की देखभाल को आगे बढ़ाने की हमारे वादे को भी दर्शाता है. यह अद्भुत दवा अब मरीजों के लिए मुफ्त उपलब्ध है, यह भारत में एक अनूठी पहल है और बीमारी को ठीक करने और मरीजों को शुरुआती दौर में रोकने का अवसर देती है, जिससे जान बचती है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह दवा स्तन कैंसर का शुरुआती इलाज कर सकती है. नए और एडवांस उपचारों को आगे बढ़ाने के लिए हमारी मजबूत वादे सुनिश्चित करती है कि हर कोई लेटेस्ट मेडिकल सॉल्यूशन से लाभ उठा सकता है. यह हमारे स्तन कैंसर से लड़ने के तरीके में एक बड़ा बदलाव है, जो पूरे देश में महिलाओं के लिए आशा और उपचार का एक नया युग ला रहा है. राणे ने कहा कि इस पहल से सालाना लगभग 12 मरीजों को लाभ होगा.

यह भी पढ़ें   BJP की ‘महतारी हुंकार रैली’ में शामिल हुईं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

डॉ. बोरकर ने कहा कि यह विशेष दवा स्तन कैंसर से नव-डायग्नोस मरीजों को सर्जरी से पहले दी जाती है. उन्होंने कहा कि यह कॉम्बिनेशन न केवल स्तन कैंसर के उपचार के प्रभाव में योगदान देगा बल्कि मरीजों के लिए मेडिकल प्रक्रिया को भी सरल बनाएगा.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending