Dolphin treasure slot machines

  1. Bonus Deposito Dragon Jackpot Roulettee: But if you look for one with bonus games, maybe the Lucky Charmer Powered is the most popular among all, being a creation of the renowned Microgaming developer.
  2. Ποια Στρατηγική Λειτουργεί Καλύτερα Στο Shamrock Miner; - They werent able to get in their game yesterday, so the starting pitchers remain the same.
  3. En Quoi Le Jeu The 7Th Element Diffère-T-Il Des Autres Jeux De Casino?: Most gambling sites will implement multiple deposits and withdrawals options for convenience.

Online slots Sydney

Quali Sono I Diversi Tipi Di Scommesse Disponibili Sul Gioco Mustang Gold Nei Casinò Online?
Where you really have to catch 7 specters using your ray.
Jaká Je Možnost Automatického Přehrávání Ve Hře Valley Of The Gods
You're able to access this at any time on your desktop, tablet, and mobile devices.
Australian Pounds Sterling can, theoretically, go through an entire assortment of payment methods available at Leo Vegas Casino.

Online cryptocurrency casino account

Come Posso Controllare Il Mio Saldo Di Gioco In Black And White Magic?
Get clusters of 15-49 symbols in the base game, and you can win over 500x your wager.
Paiements Sécurisés Du Casino Sweet Bonanza
The most popular Android casino games are pokies, and you will find hundreds to choose from at top mobile casinos for Android.
Quelles Sont Les Meilleures Stratégies Pour Maximiser Les Revenus Dans Wild Hike?

Connect with us

क्राइम

ईडी ने महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दो नई गिरफ्तारियां की

avatar

Published

on

Raipur: द प्रवर्तन निदेशालय अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी और गेमिंग ऐप मामले में मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। नितिन टिबरेवाल और अमित अग्रवाल को विभिन्न धाराओं के तहत हिरासत में ले लिया गया धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) और शुक्रवार को रायपुर में एक विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया, ईडी के वकील सौरभ पांडे ने कहा, उन्होंने बताया कि अदालत ने उन्हें 17 जनवरी तक ईडी की हिरासत में भेज दिया, टिबरेवाल पर इस मामले के एक आरोपी विकास छापरिया का “करीबी सहयोगी” होने का आरोप है।

Additional Information : ईडी के सूत्रों ने कहा कि उन पर दुबई में कुछ “अघोषित” संपत्तियां खरीदने और एक एफपीआई कंपनी में बहुसंख्यक शेयरधारक होने का आरोप है, जिसमें चप्पारिया भी एक शेयरधारक हैं।

एजेंसी को संदेह है कि ये संपत्तियां महादेव ऐप के मुनाफे से उत्पन्न “अपराध की आय” का उपयोग करके खरीदी गई थीं।

सूत्रों ने बताया कि अमित अग्रवाल इस मामले के एक अन्य आरोपी अनिल कुमार अग्रवाल का रिश्तेदार है।

अमित अग्रवाल पर अनिल कुमार अग्रवाल से महादेव ऐप फंड प्राप्त करने का आरोप है और कहा जाता है कि उनकी (अमित अग्रवाल की) पत्नी ने मामले के एक अन्य आरोपी अनिल दम्मानी के साथ कई संपत्तियां खरीदी हैं।

यह भी पढ़ें   छत्तीसगढ़ में जल्द आने वाला है मानसून

छपारिया और अनिल अग्रवाल की दुबई स्थित दो अचल संपत्ति, एक फ्लैट और एक प्लॉट, जिसकी कीमत 99.46 करोड़ रुपये है, को पिछले साल ईडी ने जब्त कर लिया था।

एजेंसी ने पहले कहा था कि ऐप द्वारा उत्पन्न कथित अवैध धन का इस्तेमाल राज्य में राजनेताओं और नौकरशाहों को रिश्वत देने के लिए किया गया था। एजेंसी ने कई मशहूर हस्तियों और बॉलीवुड अभिनेताओं को ऑनलाइन सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म और भुगतान के तरीके के साथ उनके संबंधों पर पूछताछ के लिए बुलाया था।

अब तक, ईडी ने इस मामले में दो आरोप पत्र दायर किए हैं, जिनमें कथित अवैध सट्टेबाजी और गेमिंग ऐप के दो मुख्य प्रमोटरों – सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल – सहित अन्य शामिल हैं।

दोनों को हाल ही में ईडी के आदेश पर जारी इंटरपोल रेड नोटिस के आधार पर दुबई में हिरासत में लिया गया था और एजेंसी उन्हें संयुक्त अरब अमीरात से भारत निर्वासित या प्रत्यर्पित करने की कोशिश कर रही है।

ईडी ने पहली चार्जशीट में आरोप लगाया कि चंद्राकर ने फरवरी 2023 में संयुक्त अरब अमीरात के रास अल खैमा में शादी की और इस आयोजन में लगभग 200 करोड़ रुपये नकद खर्च किए गए।

यह भी पढ़ें   CG: पिकनिक मनाने भोरमदेव जा रहे थे शिक्षक और बच्चे, ब्रेकर से उछलकर पलट गई स्कूल बस...

एजेंसी ने आरोप लगाया कि चंद्राकर के रिश्तेदारों को भारत से यूएई ले जाने के लिए निजी जेट किराए पर लिए गए थे और मशहूर हस्तियों को शादी में प्रस्तुति देने के लिए भुगतान किया गया था।

ईडी के अनुसार, इस मामले में अपराध की अनुमानित आय लगभग 6,000 करोड़ रुपये है।

एजेंसी ने नवंबर में छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण से ठीक पहले दावा किया था कि फोरेंसिक विश्लेषण और कथित कैश कूरियर असीम दास के बयान से “चौंकाने वाले आरोप” लगे हैं कि महादेव सट्टेबाजी ऐप प्रमोटरों ने पूर्व छत्तीसगढ़ को लगभग 508 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने अब तक कहा है कि ये आरोप “जांच का विषय” हैं।

बघेल ने इन आरोपों को उनकी छवि “खराब” करने का प्रयास बताया था जबकि कांग्रेस ने इसे उनके खिलाफ केंद्र की “प्रतिशोध की राजनीति” करार दिया था।

चंद्राकर और उप्पल छत्तीसगढ़ के भिलाई शहर के रहने वाले हैं। महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप अवैध सट्टेबाजी वेबसाइटों को सक्षम करने के लिए ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म की व्यवस्था करने वाला एक प्रमुख सिंडिकेट है।

क्राइम

हिन्दू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर रील बनाने वाला अभियुक्त गिरफ्तार

avatar

Published

on

फिरोजाबाद, 23 फरवरी (हि.स.)। थाना रजावली पुलिस टीम ने शुक्रवार को सोशल मीडिया पर हिन्दू देवी-देवताओं के बारे में आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसे जेल भेजा है।

सीओ टूंडला अनिमेश कुमार ने शुक्रवार को बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सौरभ दीक्षित द्वारा जनपद में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट, टिप्पणी करने वालों के विरुद्ध चलाये अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में वरिष्ठ उपनिरीक्षक थाना रजावली विकल सिंह ढाका पुलिस टीम के साथ क्षेत्र में गश्त पर थे तभी उन्होंने सूचना पर सोशल मीडिया प्लेटफार्म (इन्स्टाग्राम) पर हिन्दू देवी देवताओं के ऊपर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए रील वायरल करने वाले अभियुक्त अंकित जाटव पुत्र मलखान सिंह निवासी ग्राम गोथुआ थाना रजावली को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें   धमतरी: पेशाब करने से मना करना निगमकर्मी को पड़ा भारी, डंडों से पीट पीटकर किया घायल…

सीओ ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त द्वारा अपने इंस्टाग्राम अकाउन्ट पर हिन्दू देवी-देवताओं के बारे में टिप्पणी करते हुये सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था। जिसके सम्बन्ध में थाना रजावली पर मुकदमा पंजीकृत हुआ था आज अभियुक्त को गिरफ्तार कर आवश्यक विधिक कार्यवाही की गई है।

Continue Reading

क्राइम

गोवा मर्डर केस: जेल में बंद सूचना सेठ के बारे में आया नया अपडेट, वकील ने पुलिस की रिपोर्ट पर किया ये दावा

avatar

Published

on

गोवा (Goa) में सूचना सेठ नाम की एक महिला ने होटल के अंदर अपने ही चार साल के मासूम बेटे का बेरहमी से कत्ल कर दिया था. मामले में गिरफ्तारी होने के बाद से ही आरोपी और उसके घरवाले अदालत में ये साबित करने की कोशिश कर रहे हैं कि उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं थी.

बता दें कि 15 फरवरी को गोवा पुलिस ने अदालत के समक्ष आरोपी की मेंटल असेसमेंट रिपोर्ट सौंपी थी, जिसमें कहा गया कि उसे कोई भी दिमागी बीमारी नहीं है. लेकिन अब सूचना सेठ के वकील, अरुण ब्रास डे सा (Arun Bras De Sa) ने कोर्ट के समक्ष दावा किया है कि सूचना सेठ मानसिक रूप से बीमार हैं और गोवा पुलिस द्वारा प्रस्तुत की गई उनकी मानसिक फिटनेस रिपोर्ट गलत है.

कोर्ट के सामने रखी ये मांग
सूचना सेठ के वकील ने कोर्ट से मांग की है कि उसके मानसिक स्वास्थ्य स्थिति की जांच करने के लिए मनोचिकित्सकों का एक मेडिकल बोर्ड गठित किया जाना चाहिए. इस बीच सरकारी वकील ने उनके बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि मानसिक तौर पर सेठ पूरी तरह से स्वस्थ हैं.

यह भी पढ़ें   आज से शुरू हो रहा छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का दूसरा चरण

सूचना सेठ ने कैसे की थी बेटे की हत्या

सूचना सेठ अपने चार साल के बेटे के साथ तीन दिन के लिए गोवा घूमने गई थी. उसने बेंगलुरु से फ्लाइट पकड़ी थी. तीन दिन अलग-अलग जगह घूमने के बाद उसने एक होटल के कमरे में अपने बेटे की हत्या कर दी. गिरफ्तार होने के बाद सूचना ने पुलिस को यह भी बताया कि वह अपना हाथ काटकर आत्महत्या करना चाहती थी, लेकिन फिर मन बदल गया. हत्या करने के बाद उसने रात एक बजे 30 हजार रुपये में कैब करके होटल से बेंगलुरू के लिए निकल गई. अगली सुबह कमरे में खून मिलने पर मैनेजर ने कलिंगुट थाने की पुलिस को सूचना दी.
पुलिस ने सूचना को लेकर गए कैब के ड्राइवर को फोन करके कार को नजदीकी थाने में ले जाने को कहा. इसके बाद ड्राइवर ने कर्नाटक के चित्रदुर्ग इलाके के आईमंगला पुलिस स्टेशन में गाड़ी रोककर वहां के पुलिसकर्मियों की गोवा पुलिस से बात कराई. गोवा पुलिस ने महिला के सामान की तलाशी लेने को कहा और इनोवा कार में रखे बैग की तलाशी के दौरान उसमें बच्चे की लाश मिली. इसके बाद पुलिस ने सूचना सेठ को गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़ें   हंगामे की भेंट चढ़ा सत्र का दूसरा दिन, कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

सूचना सेठ कौन है?

गोवा के एक होटल में अपने ही मासूम बेटे की हत्या करने वाली सूचना सेठ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एथिक्स एक्सपर्ट, डेटा साइंटिस्ट और स्टार्टअप कंपनी माइंडफुल एआई लैब की फाउंडर और सीईओ है. दूसरी तरफ सूचना के पति के वकील का दावा है कि उसका स्टार्टअप अस्तित्व में ही नहीं है.

Continue Reading

क्राइम

Surat: प्रेम जाल में मकान मालिक को फंसाया. प्रेमी के साथ मिलकर चुराए 96 लाख रुपये, बंटी-बबली गिरफ्तार

avatar

Published

on

सूरत शहर के चौक बाजार पुलिस थाना क्षेत्र अंतर्गत रहने वाले दिलीप उकानी को किराएदार महिला से प्यार करना भारी पड़ गया था. किराएदार दो बच्चों की मां ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर दिलीप उकानी के घर से करीब 96 लाख रुपए लेकर रफू चक्कर हो गई थी.

इस मामले में चौक बाजार पुलिस ने केस दर्ज किया था. मामले की जांच के बाद पुलिस ने लाखों रुपए चुराने वाले बंटी और बबली को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने उनके पास से चोरी की गई रकम में से 70 लाख 50 हजार रुपये बरामद भी कर लिए हैं.

सूरत की चौक बाजार थाना पुलिस ने बताया कि 31 जनवरी 2023 को थाना क्षेत्र के तहत आने वाले सिद्धिविनायक अपार्टमेंट से 96 लाख 44 हजार रुपयों से भरे दो बैग चोरी होने की शिकायत मिली थी. मामले की जांच के बाद पुलिस ने जयश्री बेन भगत और उसके प्रेमी शुभम मिशाल को गिरफ्तार किया है.

पहले से जयश्री को थी प्लॉट बिकने की जानकारी

दोनों ने मिलकर दिलीप उकानी के घर से चोरी की थी. उसके घर के नीचे ही ग्राउंड फ्लोर ये लोग किराए से रहते थे. दिलीप फर्स्ट फ्लोर पर अकेला रहता था. मकान के ऊपर-नीचे रहने वाले दिलीप और जयश्री भगत के बीच जान पहचान थी. लिहाजा, जयश्री बेन भगत को पता था कि दिलीप उकानी का लाखों रुपए की कीमत का एक प्लॉट बिकने वाला है.

यह भी पढ़ें   धमतरी: पेशाब करने से मना करना निगमकर्मी को पड़ा भारी, डंडों से पीट पीटकर किया घायल…

जयश्री बेन भगत ने दिलीप के साथ नजदीकियां बढ़ा लीं. उसने दिलीप से कहा था कि पति के साथ उसकी नहीं बनती है. वह दिलीप के साथ शादी कर उसके साथ रहने के लिए तैयार है. जयश्री बेन भगत की चिकनी चुपड़ी बातों में दिलीप आ गया था और फिर दोनों साथ-साथ रहने लगे थे. इस बीच कभी-कभी जयश्री भगत का प्रेमी शुभम भी उससे मिलने-जुलने आया करता था. इस बात को लेकर दिलीप ने जयश्री भगत के साथ नाराजगी भी जाहिर की थी.

घर में कैश की जानकारी प्रेमी को देकर बनाया प्लान

23 जनवरी 2023 को दिलीप के प्लॉट का सौदा हो गया था. प्लॉट बिकने के बाद दिलीप को मिले 96 लाख 44 हजार रुपए दो बैग में भरकर रख दिए थे. इन पैसों को हड़प करने के लिए 31 जनवरी को जयश्री बेन भगत ने अपने प्रेमी शुभम मिशाल के साथ प्लान बनाया.

जयश्री भगत ने दिलीप उकानी से कहा कि उसके पति के साथ उसकी नही बनती है, तो अपने दोनों बच्चो को उसके पास छोड़ कर आते हैं. जयश्री बेन भगत की बात पर दिलीप राजी हो गया. इसके बाद दोनों बच्चों को उसके पति के पास छोड़ने के लिए ऑटो में सवार होकर दिलीप और जयश्री निकल गए थे.

घर पहुंचकर दिलीप को चोरी का लगा पता

यह भी पढ़ें   जांजगीर-चांपा : 10 लीटर महुआ शराब के साथ एक आरोपी गिरफ्तार

इसी बीच प्लान के मुताबिक, जयश्री भगत ने इस बीच अपने प्रेमी शुभम को दिलीप के घर से नोटों से भरे बैग चुरा ले जाने के लिए कहा था. उधर, जब दिलीप जयश्री के दोनों बच्चों को उनके पिता के पास छोड़कर वापस लौटा, तो जयश्री वहां नहीं मिली. जब उसने जयश्री को फोन लगाया, तो उसने दिलीप का फोन भी नहीं उठाया. दिलीप को लगा कि कुछ गड़बड़ है. वह दौड़ते हुए अपने घर पहुंचा, जहां नोटों से भरे बैग रखे थे. वहां जाकर उसे पता चला कि घर से नोटों के बैग गायब हैं.

सीसीटीवी में नोटों का बैग ले जाते दिखा प्रेमी शुभम

दिलीप ने आस-पास के सीसीटीवी खंगाले, तो टोपी पहने एक शख्स शुभम का नोटों से भरा बैग ले जाता हुआ नजर आया. इसके बाद 31 जनवरी को दिलीप ने चौक बाजार पुलिस थाने में यह मामला दर्ज करवाया था. पुलिस की टीम ने बंटी-बबली की तफ्तीश शुरू कर दी. डीसीपी भगीरथ गढ़वी ने बताया कि इस बीच पुलिस को जानकारी मिली कि दोनों आरोपी सूरत आ रहे हैं. इस जानकारी के आधार पर इन दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. दोनों के पास से चोरी किए गए 96 लाख 44 हजार रुपयों में से 70 लाख 50 हजार रुपये बरामद भी कर लिए गए हैं.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending