Fast download crypto casino and slots

  1. Tipy Na Používanie Kasínových Platforiem Legacy Of The Wild: The answer to Which is the Best Online Slot is simple, its all down to player preference.
  2. Novos Jogos No Casino Nitropolis 4 - Realtime Gaming has the Trojan War story as a theme for its 5-reel slot machine Achilles.
  3. Hvem Er De Bedste Vindere I Big Bamboo-Spillet: Once you have selected the box, various cash values will be overlaid upon the bonus roulette wheel, the ball will then spin and land in one of those value.

Slot machines in vegaa

Joker Pro'ın Bölgesel Varyantları
Another Microgaming slot here, a sequel to the original bank-themed idea.
Super Diamond Wild Çevrimiçi Bir Kumarhanede Para Yatırma Ve Çekme Işlemi Nasıl Çalışır
These are basically credits players can use for pokies at no risk.
It features an easy way to put down your live bets.

Online cryptocurrency casino sh

¿Cómo Puedo Encontrar Tutoriales Sobre Cómo Jugar El Romeo And Juliet – Sealed With A Kiss?
You can bet pre-match or live, the winners in upcoming tournaments, and take advantage of great deals.
Kun Je Gates Of Olympus Op Een Tablet Spelen?
When a winning combination of symbols are formed across the reels, the symbols involved in that win will explode and be removed.
Arcade Aviator

Connect with us

देश

Breaking News : 2019 में राम मंदिर का फैसला कांग्रेस ने किया स्वीकार फिर अब प्राण प्रतिष्ठा में जाने से क्यों इनकार

avatar

Published

on

अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की तारीख जैसे-जैसे करीब आ रही है वैसे-वैसे सियासी पारा भी बढ़ता जा रहा है. 22 जनवरी को होने वाले समारोह के लिए देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को भी न्योता मिला, लेकिन उन्होंने इसे अस्वीकार कर दिया है.

कांग्रेस का कहना है कि ये आयोजन बीजेपी और RSS का है और राम मंदिर को राजनीतिक परियोजना बना दिया गया है. ये चुनावी लाभ के लिए किया जा रहा है.

कांग्रेस आरोप लगाती रही है कि बीजेपी राम मंदिर मामले पर राजनीति करती है और वो सत्ता हथियाने के लिए इसका इस्तेमाल करती है. याद कीजिए साल 2019, जब सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर पर फैसला दिया था. कोर्ट के निर्णय पर कांग्रेस ने कहा था कि इस मामले पर राजनीति कर सत्ता हथियाने का प्रयास करने वाली बीजेपी जैसे दलों के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए. अब ये दल राम मंदिर के मुद्दे पर अपनी राजनीतिक रोटियां नहीं सेक सकेंगे. कांग्रेस ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का फैसला सभी के लिए सम्मान का प्रतीक है. सभी समुदायों को एक दूसरे की आस्था और विश्वास का सम्मान करना चाहिए.

कांग्रेस के कुछ नेता ऐसे भी हैं जो निमंत्रण को स्वीकार करने के पक्ष में हैं. उत्तर प्रदेश से आचार्य प्रमोद और गुजरात से अर्जुन मोढवाडिया ने फैसले को गलत बताया है. हिमाचल प्रदेश के विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि वह 22 जनवरी के कार्यक्रम में जाएंगे. निमंत्रण को अस्वीकार करने से बीजेपी और पीएम मोदी के हाथ में एक सीधा मुद्दा आ गया है. आगामी लोकसभा चुनाव में वे इसपर आक्रामक रूप से खेल सकते हैं और कांग्रेस पर हमलावर हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें   Raipur Breaking: शंकर नगर इलाके में कई मंत्रियों के घर घुसा पानी

कांग्रेस कभी राम मंदिर के मुद्दे पर आक्रामक रहती थी, लेकिन बीजेपी के पाले में मुद्दा जाने के बाद से वो सेफ साइड लेकर चलती है. किसी एक धर्म की पार्टी का मैसेज देने से वो बचती रही है. यही वजह है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी कभी भी राम मंदिर नहीं गए, यहां तक कि जब वे अयोध्या गए थे तब भी. 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद 2016 में अयोध्या जाने वाले राहुल गांधी परिवार के पहले सदस्य थे, लेकिन उन्होंने केवल हनुमानगढ़ी मंदिर का दौरा किया और राम मंदिर नहीं गए. उनकी बहन प्रियंका गांधी ने 2019 में अपनी पहली अयोध्या यात्रा में भी ऐसा ही किया था.

कार्यक्रम के निमंत्रण कांग्रेस ने क्या जवाब दिया?

कांग्रेस की ओर से बुधवार को बाकायदा बयान जारी कर बताया गया कि क्यों मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी 22 जनवरी के कार्यक्रम में नहीं जाएंगे. पार्टी ने कहा कि पिछले महीने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरेग, कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी, लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी को अयोध्या में राम मंदिर के उद्धाटन का निमंत्रण मिला. भगवान राम की पूजा अर्चना करोड़ो भारतीय करते हैं. धर्म मनुष्य का व्यक्तिगत विषय होता है लेकिन बीजेपी और आरएसएस ने वर्षों से अयोध्या में राम मंदिर को एक राजनीतिक परियोजना बना दिया है. स्पष्ट है कि एक अर्द्धनिर्मित मंदिर का उद्धाटन केवल चुनावी लाभ उठाने के लिए किया जा रहा है. 2019 के सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को स्वीकार करते हुए और लोगों की आस्था के सम्मान में मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी बीजेपी और आरएसएस के इस आयोजन के निमंत्रण को ससम्मान अस्वीकार करते हैं.

यह भी पढ़ें   धमतरी: चलती स्कूटी में अचानक लग गई आग, महिला ने कूदकर बचाई जान..

आधारशिला के वक्त क्या था कांग्रेस का स्टैंड

5 अगस्त, 2020 को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन हुआ था. तब भी कांग्रेस का यही स्टैंड था जो आज है. पार्टी ने तब भी यही कहा था कि बीजेपी इस मौके से राजनीतिक लाभ उठा रही है. हालांकि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने घर पर हनुमान चालीसा का पाठ कराया था और कहा कि मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी की तरफ से चांदी की 11 शीलाएं राम मंदिर के निर्माण के लिए भेजा जी रही हैं.

कांग्रेस ने रखी थी राम मंदिर मुद्दे की नींव

बीजेपी भले ही राम मंदिर का निर्माण कर वाह-वाही बटोर रही है, लेकिन अयोध्या के विवादित स्थल पर मूर्ति रखने, बाबरी का ताला खुलवाने से लेकर राम मंदिर का शिलान्यास और मस्जिद का विध्वंस कांग्रेस के सत्ता में रहते हुए था. यहां तक कि 1989 के लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत राजीव गांधी ने अयोध्या से की. कमलनाथ कहते हैं कि राजीव गांधी ने 1985 में मंदिर का ताला खोल दिया था. 1989 में उन्होंने शिलान्यास की बात कही थी, लेकिन हम कभी इसे राजनीतिक मंच पर नहीं लाए.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

प्रधानमंत्री मोदी ने कैबिनेट मंत्रियों से मांगा 100 दिन का प्लान, 3 मार्च तक का दिया समय

avatar

Published

on

विपक्षी पार्टियां जहां लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन बनाने में ही जुटे हुए हैं, वहीं भाजपा अपनी जीत को लेकर इतनी आश्वस्त है कि पीएम मोदी ने अपने कैबिनेट मंत्रियों से अगले 100 दिन की कार्य योजना मांगी है।
प्रधानमंत्री ने कहा है कि 3 मार्च की कैबिनेट की बैठक में मंत्री अपनी-अपनी कार्य योजना को पेश करें। 21 फरवरी को मोदी सरकार की कैबिनेट की बैठक हुई थी, उसी बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने मंत्रियों को 100 दिन की कार्य योजना देने का निर्देश दिया था।

विशेषज्ञों से चर्चा के बाद तैयार की जाएगी कार्य योजना
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मंत्रियों को कहा गया है कि वे गहन विचार विमर्श और अनुभवी नौकरशाहों और विशेषज्ञों के साथ चर्चा के बाद इस कार्य योजना को तैयार करें। मंत्रियों को कहा गया है कि कार्य योजना अच्छी तरह से उल्लेखित होना चाहिए, जिस पर एक्शन लिया जा सके। कैबिनेट मंत्रियों से ये भी पूछा गया है कि अगले कार्यकाल में सरकार को किन क्षेत्रों पर सबसे ज्यादा फोकस करना चाहिए, इसकी भी पहचान की जाए। 3 मार्च को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की यह आखिरी कैबिनेट बैठक होगी।

यह भी पढ़ें   घी चोरी करने वाला गिरोह चढ़ा सरकंडा पुलिस के हत्थे, 6 लाख का माल बरामद

चुनाव की तैयारी की भी बनेगी योजना
100 दिन की कार्य योजना के तहत भाजपा हर गांव और घर तक पहुंचेगी। पार्टी के गांव चलो अभियान के तहत सीएम, डिप्टी सीएम और सरकार के मंत्री गांवों में प्रवास कर रहे हैं। साथ ही दलित बस्तियों में भी प्रचार किया जा रहा है। 100 दिन की कार्य योजना के तहत सभी बूथों का सत्यापन किया जाएगा और पन्ना प्रमुख बना लिए जाएंगे। बीते दिनों बजट सत्र के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने संसद में विश्वास जताया था कि आगामी लोकसभा चुनाव में भी एनडीए की सरकार बनेगी और भाजपा अकेले 370 और एनडीए 400 सीटों पर जीत दर्ज करेगा। पीएम मोदी के बयान से साफ है कि भाजपा आगामी आम चुनाव में सत्ता हासिल करने को लेकर आश्वस्त हैं।

Continue Reading

देश

हिमाचल के लोगों को मोदी सरकार का तोहफा, इस शहर से हरिद्वार के लिए मिलेगी सीधी ट्रेन सुविधा

avatar

Published

on

मोदी सरकार ने हिमाचल प्रदेश जाने वाले लोगों को एक नई सौगात दी है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा एवं खेल मामलों के मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि अब हिमाचल से हरिद्वार तक सीधी ट्रेन चलाई जाएगी.

उन्होंने बताया कि ऊना हिमाचल से चल कर सहारनपुर जाने वाली ट्रेन अब हरिद्वार तक चलाई जाएगी.

हिमाचल वासियों को मोदी सरकार का तोहफा
अनुराग ठाकुर ने इस निर्णय के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का आभार जताते हुए कहा कि इससे क्षेत्रवासियों को काफी लाभ मिलेगा और तीर्थाटन में बढ़ोतरी होगी. आगे उन्होंने कहा कि ऊना हिमाचल-सहारनपुर MEMU, जो ऊना से चल कर सहारनपुर तक जाती थी, उसके एक्सटेंशन की मंजूरी मिल गई है. अब ये ट्रेन ऊना से हरिद्वार तक चलाई जाएगी, जिससे यात्रियों को आवागमन की बड़ी सुविधा मिलेगी.

उन्होंने आगे कहा कि हिमाचल प्रदेश में रेल सेवाओं का विस्तार हो, इसके लिए मोदी सरकार नई ट्रेनें चलाने से लेकर जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट इत्यादि पर पूरी गंभीरता से काम कर रही है. वित्तवर्ष 2023-24 के लिए हिमाचल प्रदेश में रेलवे विस्तार के लिए 1838 करोड़ रुपए मंजूरी दी गई है.

मोदी सरकार द्वारा सामरिक महत्व की भानुपल्ली-बिलासपुर-बेरी रेल लाइन के लिए 1000 करोड़ ,चंडीगढ़-बद्दी रेललाइन को 450 करोड़ रुपये , नंगल- तलवाड़ा रेल लाइन के लिए 452 करोड़ रुपये वर्ष 2023-24 के बजट की मंजूरी दी गई है. रेल विस्तार के लिए 1838 करोड़ रुपये की यह मंजूरी यूपीए शासन काल के वर्ष 2009-2014 से 17 गुना ज्यादा है. वर्तमान में प्रदेश में 19556 रुपये करोड़ की 258 किलोमीटर की 4 परियोजनाओं पर काम जारी है.

केंद्रीय मंत्री ने दी जानकारी
अनुराग ठाकुर ने कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र के ऊना जिले के गगरेट विधानसभा में वर्षों से मांग थी कि यहां के लोहारली खड्ड पर 500 मीटर लंबे डबल लेन की मंजूरी, दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशन का लोकार्पण, अम्ब रेलवे स्टेशन तक रेल लाइन का विद्युतीकरण व फुटओवर ब्रिज का विस्तार, ऊना रेलवे स्टेशन पर दूसरे प्लेटफॉर्म एवं फुटओवर ब्रिज की मंजूरी,पुराने का विस्तार, नई रेलगड़ियां की मंजूरी व चुरारू तकराला अंबाला कैंट-दौलतपुर चौक पैसेंजर स्पेशल ट्रेन व रायमेहतपुर सहारनपुर-ऊना हिमाचल पैसेंजर एक्सप्रेस ट्रेन समेत प्रमुख गाड़ियों का स्टॉपेज पूरे हिमाचल के लिए मोदी सरकार की तरफ से बड़ा तोहफा है.

आगे जानकारी देते हुए अनुराग ठाकुर ने बताया कि ऊना ब्रॉडगेज रेललाइन से जुड़ा हुआ हिमाचल का एकमात्र जिला है. साल 1990 में पहली बार ट्रेन ऊना पहुंची थी. उन्होंने कहा कि साल 2014 से मार्च 2019 तक अम्ब-अन्दौरा, चिंतपूर्णी मार्ग व दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशन तक का कार्य मोदी सरकार के समय मे पूरा हुआ है. आज ऊना व अम्ब अन्दौरा रेलवे स्टेशन से कुल 13 ट्रेनें इस जिले को देश के अलग भागों से जोड़ती हैं. साबरमती रेलवे स्टेशन के लिए भी ऊना से रोजाना ट्रेन चलती है.

यह भी पढ़ें   Raipur Breaking: शंकर नगर इलाके में कई मंत्रियों के घर घुसा पानी
Continue Reading

देश

सबसे बड़े कुकर्मी बता अरविंद केजरीवाल ने एक सांस में लिए 13 नाम; सिसोदिया को बताया ‘धर्म’

avatar

Published

on

चंडीगढ़ मेयर चुनाव में सुप्रीम कोर्ट के जरिए आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार को मिली जीत के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार को विधानसभा में जमकर गरजे। इस दौरान उन्होंने देश के कई नेताओं का नाम लेकर उन्हें सबसे बड़ा कुकर्मी बता डाला।

उन्होंने मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को ‘धर्म’ बताते हुए भाजपा सांसद बृजभूषण, असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा समेत कई नेताओं को कुकर्मी कहा।

केजरीवाल ने कहा, ‘आज चारों तरफ अधर्म का बोलबाला है। चारों तरफ इतना अधर्म हो गया है कि लोग बात करने लगे हैं कि ईमानदारी से कोई फायदा नहीं। देश में इतनी बड़े षड्यंत्र और कुकर्म चल रहे हैं। लोग देख रहे हैं कि अधर्म करने वालों को तरक्की हो रही है। देश में 75 साल के बाद गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा देने वाला देश के अंदर है, धर्म देश के अंदर है और देश की मां-बेटियों को छेड़ने वाला सत्ता का सुख भोग रहा है।’

केजरीवाल ने आगे कहा, ‘आज देश में मोहल्ला क्लीनिक बनाने वाला और गरीबों को दवा देने वाला सत्येंद्र जैन जेल के अंदर है। और चुन-चुन कर देश के सबसे बड़े कुकर्मी, सबसे भ्रष्टाचारी, हिमंत बिस्वा सरमा, शुभेंदु अधिकारी, मुकुल रॉय, नारायण राणे, भावना गावली, अशोक चव्हाण, यशवंत जाधव, यामिनी जाधव, छगन भुजबल, अजीत पवार, प्रफुल्ल पटेल, गोपाल कांडा… पता नहीं कितनी लंबी लिस्ट है। चुन-चुनके इस देश के सबसे कुकर्मी और सबसे भ्रष्ट लोगों को अपनी पार्टी में शामिल कराकर सत्ता का सुख भोग रहे हैं।’

सीजेआई की भगवान से तुलना
अरविंद केजरीवाल ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव पर फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसा लगा जैसे चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की जुबान पर भगवान थे। उन्होंने कहा, ‘हम लोग अदालतों को मंदिर मानते हैं। न्याय भगवान देता है। इसलिए जज जब कुर्सी पर बैठकर फैसला सुनाता है तो कहा जाता है कि भगवान फैसला सुना रहा है। कल जो कुछ सुप्रीम कोर्ट में घटा वह कुछ ज्यादा बड़ा था। ऐसा लगा जैसे सुप्रीम कोर्ट में श्री कृष्ण मौजूद थे। ऐसा लगा जैसे चीफ जस्टिस के अंदर भगवान बोल रहे थे। ऐसा लगा जैसे चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की जुबान पर भगवान बैठे थे।’

यह भी पढ़ें   Raipur: खेत में घुसी गायों पर किया धारदार हथियार से वार, 20 से ज्यादा घायल

देश को पाकिस्तान बना दिया: केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल ने कि खुलेआम विधायक खरीदे जा रहे हैं और सरकारें गिराईं जा रही हैं। लोगों का विश्वास खत्म होता जा रहा है। उन्होंने चंडीगढ़ मेयर चुनाव की तुलाना पाकिस्तान के आम चुनाव से करते हुए कहा कि देश को पाकिस्तान बना दिया गया। उन्होंने कहा, ‘जो चंडीगढ़ में हुआ, एक अधिकारी ने वोट में गड़बड़ करके जीतने वाले को हरा दिया और हारने वालो को जिता दिया। पाकिस्तान में भी तो यही हुआ। इन लोगों ने हमारे देश को पाकिस्तान बना दिया। 75 साल में हमारे देश के 140 करोड़ के लोगों ने मेहनत करके हासिल किया था उसे एक झटके में खत्म कर दिया।’

चंडीगढ़ मेयर चुनाव में सुप्रीम कोर्ट के जरिए आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार को मिली जीत के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार को विधानसभा में जमकर गरजे। इस दौरान उन्होंने देश के कई नेताओं का नाम लेकर उन्हें सबसे बड़ा कुकर्मी बता डाला।

उन्होंने मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को ‘धर्म’ बताते हुए भाजपा सांसद बृजभूषण, असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा समेत कई नेताओं को कुकर्मी कहा।

केजरीवाल ने कहा, ‘आज चारों तरफ अधर्म का बोलबाला है। चारों तरफ इतना अधर्म हो गया है कि लोग बात करने लगे हैं कि ईमानदारी से कोई फायदा नहीं। देश में इतनी बड़े षड्यंत्र और कुकर्म चल रहे हैं। लोग देख रहे हैं कि अधर्म करने वालों को तरक्की हो रही है। देश में 75 साल के बाद गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा देने वाला देश के अंदर है, धर्म देश के अंदर है और देश की मां-बेटियों को छेड़ने वाला सत्ता का सुख भोग रहा है।’

केजरीवाल ने आगे कहा, ‘आज देश में मोहल्ला क्लीनिक बनाने वाला और गरीबों को दवा देने वाला सत्येंद्र जैन जेल के अंदर है। और चुन-चुन कर देश के सबसे बड़े कुकर्मी, सबसे भ्रष्टाचारी, हिमंत बिस्वा सरमा, शुभेंदु अधिकारी, मुकुल रॉय, नारायण राणे, भावना गावली, अशोक चव्हाण, यशवंत जाधव, यामिनी जाधव, छगन भुजबल, अजीत पवार, प्रफुल्ल पटेल, गोपाल कांडा… पता नहीं कितनी लंबी लिस्ट है। चुन-चुनके इस देश के सबसे कुकर्मी और सबसे भ्रष्ट लोगों को अपनी पार्टी में शामिल कराकर सत्ता का सुख भोग रहे हैं।’

यह भी पढ़ें   CG: चलती ट्रेन में आया बुजुर्ग को हार्ट अटैक, मची अफरा-तफरी... RPF ने संभाला मामला

सीजेआई की भगवान से तुलना
अरविंद केजरीवाल ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव पर फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसा लगा जैसे चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की जुबान पर भगवान थे। उन्होंने कहा, ‘हम लोग अदालतों को मंदिर मानते हैं। न्याय भगवान देता है। इसलिए जज जब कुर्सी पर बैठकर फैसला सुनाता है तो कहा जाता है कि भगवान फैसला सुना रहा है। कल जो कुछ सुप्रीम कोर्ट में घटा वह कुछ ज्यादा बड़ा था। ऐसा लगा जैसे सुप्रीम कोर्ट में श्री कृष्ण मौजूद थे। ऐसा लगा जैसे चीफ जस्टिस के अंदर भगवान बोल रहे थे। ऐसा लगा जैसे चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की जुबान पर भगवान बैठे थे।’

देश को पाकिस्तान बना दिया: केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल ने कि खुलेआम विधायक खरीदे जा रहे हैं और सरकारें गिराईं जा रही हैं। लोगों का विश्वास खत्म होता जा रहा है। उन्होंने चंडीगढ़ मेयर चुनाव की तुलाना पाकिस्तान के आम चुनाव से करते हुए कहा कि देश को पाकिस्तान बना दिया गया। उन्होंने कहा, ‘जो चंडीगढ़ में हुआ, एक अधिकारी ने वोट में गड़बड़ करके जीतने वाले को हरा दिया और हारने वालो को जिता दिया। पाकिस्तान में भी तो यही हुआ। इन लोगों ने हमारे देश को पाकिस्तान बना दिया। 75 साल में हमारे देश के 140 करोड़ के लोगों ने मेहनत करके हासिल किया था उसे एक झटके में खत्म कर दिया।’

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending