Crypto Casino in sunderland

  1. Dağılımlı 3 Coins Egypt Kumarhanesi: Set in ancient China during a battle for power, it features imagery of marching armies, armour and weaponry, and a beautiful Chinese castle.
  2. Hogyan Működik Az Viking Wilds A Többi Kaszinójátékhoz Képest? - WMS, under its new home of SG Gaming, is licensed in the AU to provide casinos with games.
  3. ¿Qué Tipos De Apuestas Son Menos Populares En El Juego Fruit Party: Cash of Kingdoms slot is also the first official release under Slingshot Studios, an independent game studio that has just started developing exclusive original content for Microgaming.

Texas hold em poker sites

Cómo Se Compara Wolf Run Con Otros Juegos De Mesa En Línea
The following article has what you are looking for.
¿Hay Algún Tutorial Para Aprender A Jugar Diamond Link Mighty Elephant
Thats right, you don't need to make a deposit at a casino to claim this type of bonus.
I have asked them over and over to provide details to raise a complaint, but they never replied.

Wizbet cryptocurrency casino bonus codes 2023

Quel Est Le Rtp Pour Burning Sun?
As I discussed, the sport is available in with a jackpot function which has 3 of them.
Starburst Game Payment
Well, this bonus provides you with extra winning chances without a necessity to pay.
I Periodi Migliori Per Evitare Big Bass - Keeping It Reel

Connect with us

छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: ड्रोन से पहुंचेगी दवा,अस्पताल तक इस मेडिकल कॉलेज का हुआ चयन, दिल्ली में होगी ट्रेनिंग,

avatar

Published

on

Ambikapur Medical College: केंद्र सरकार के पायलट प्रोजेक्ट के लिए अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज का चुनाव किया गया है. छत्तीसगढ़ से ये एक मात्र कॉलेज है जिसको इसके लिए चुना गया है

Ambikapur News: सड़क दुर्घटना या किसी वजह से मुख्य मार्ग बाधित होने पर जरूरी दवा और सैंपल, आपाकालीन चिकित्सा संसाधन को आवश्यकता वाले स्थल तक पहुंचाने के लिए अब ड्रोन की मदद ली जाएगी. भारत सरकार ने इसे पायलट प्रोजेक्टर के तौर पर लिया है और देशभर के 650 मेडिकल कॉलेजों में मात्र 25 मेडिकल कॉलेजों का चयन ड्रोन इन हेल्थकेयर के परीक्षण के लिए किया गया है. इन 25 मेडिकल कॉलेजों में से अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज छत्तीसगढ़ का एकमात्र मेडिकल कॉलेज है.

आमतौर पर बड़ा हादसा सड़क होने या आंदोलनों की वजह से मार्ग बाधित होने पर जरूरी दवाओं की परिवहन भी थम जाती है. इसके कारण पहाड़ी और दूरस्थ अंचलों में न सिर्फ स्वास्थ्य सुविधा प्रभावित होती है, बल्कि जरूरतमंदों को तत्काल सही उपचार अथवा दवाई नहीं मिलने से परेशानियों का सामना करना पड़ता है, कई बार मरीजों की मौतें भी हो जाती है. ऐसी स्थिति में शासन-प्रशासन पर लचर स्वास्थ्य व्यवस्था के आरोप भी लगते हैं. केंद्र सरकार का मनाना है कि ऐसे विशेष परिस्थितियों में ड्रोन कैमरा बेहतर माध्यम है और सड़क बाधित होने के बाद भी प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा अन्य आवश्यकता वाले स्थलों में जरूरी दवाईयां सहित अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकती है.

यह भी पढ़ें   कोरमी में 9 लोगों की मौत, फर्जी दवा देने वाला डॉक्टर गिरफ्तार, परिवार वालों से मिलने धरम लाल कौशिक पहुंचे

सरगुजा के लिए बड़ी उपलब्धि

बताया जा रहा है कि ड्रोन इन हेल्थकेयर के लिए केंद्र सरकार के द्वारा ऐसे मेडिकल कॉलेजों का इलाकों का चयन किया गया है जो पहाड़ों से घिरे हो अथवा पहुंच मार्ग बाधित होने की संभावना बनती हो. प्रथम चरण में प्रयोग के तौर पर कश्मीर जैसे इलाकें चयनित किए गए हैं. इसके अलावा मेडिकल कॉलेज के अधीन उदयपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का चयन होने से इसे अंचल के लिए बड़ी उपलब्धी मानी जा रही है. भारत सरकार के द्वारा ड्रोन फेडरेशन ऑफ इंडिया के माध्यम से ड्रोन उपलब्ध कराया जाएगा.

ड्रोन दीदियों को दिल्ली में मिलेगा प्रशिक्षण

यह भी पढ़ें   CG PAT का रिजल्ट जारी, मयंक शिंदे ने हासिल किया छत्तीसगढ़ में पहला स्थान

मेडिकल कॉलेज अस्पताल, अम्बिकापुर के डीन डॉ. रमनेश मूर्ति ने बताया कि शासन के द्वारा ड्रोन इन हेल्थकेयर के प्रयोग के लिए मेडिकल कॉलेज के अधीन समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उदयपुर का किया गया है. इसके लिए दो महिलाओं को दिल्ली में प्रशक्षिण दिया जाएगा और इन महिलाओं को ड्रोन दीदी की संज्ञा दी जाएगी. आमतौर पर ड्रोन संचालन का प्रशक्षिण महंगा होता है, मगर केंद्र सरकार के माध्यम से चयनित महिलाओं को इसका प्रशक्षिण निःशुल्क दिया जाएगा.

छत्तीसगढ़

उप मुख्यमंत्री श्री अरुण साव लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं के प्रशिक्षण में हुए शामिल

avatar

Published

on

सीएसआईआर-सीआरआरआई द्वारा सहायक अभियंताओं, अनुविभागीय अधिकारियों और उप अभियंताओं के लिए तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन

रोड सेफ्टी ऑडिट और सड़क सुरक्षा से संबंधित विषयों पर दिया जा रहा प्रशिक्षण

बिलासपुर. 27 फरवरी 2024. उप मुख्यमंत्री अरुण साव आज सवेरे लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं के प्रशिक्षण में शामिल हुए। रायपुर के सिविल लाइन स्थित नवीन विश्राम भवन में सीएसआईआर-सीआरआरआई द्वारा लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंताओं, अनुविभागीय अधिकारियों और उप अभियंताओं के लिए तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया है। विभागीय अभियंताओं को रोड सेफ्टी ऑडिट और सड़क सुरक्षा से संबंधित विषयों पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

उप मुख्यमंत्री तथा लोक निर्माण मंत्री अरुण साव ने तीन दिवसीय प्रशिक्षण के शुभारंभ सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि सड़कें गुणवत्तापूर्ण होने के साथ ही सुरक्षित भी होने चाहिए। सड़कों के निर्माण के दौरान सुरक्षा संबंधी सभी उपायों और प्रावधानों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें   Bilaspur: जानिए इस दिवाली पर कितने घंटे फोड़ सकेंगे पटाखें, जिला प्रशासन ने जारी किया आदेश

उन्होंने उम्मीद जताई कि विभाग के अभियंताओं के लिए यह प्रशिक्षण काफी उपयोगी होगा और वे रोड सेफ्टी ऑडिट तथा सड़क सुरक्षा की बारीकियों एवं व्यावहारिक व्यवस्थाओं को और ज्यादा बेहतर तरीके से जान-समझ पाएंगे। प्रमुख अभियंता के.के. पिपरी और वरिष्ठ विभागीय अधिकारी भी प्रशिक्षण के शुभारंभ सत्र में मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि देश में बढ़ती दुर्घटनाओं और उनमें मरने वालों की अत्यधिक संख्या को देखते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने रोड कमेटी ऑन रोड सेफ्टी का गठन किया है। सड़क दुर्घटनाओं के अन्य कारणों के साथ सड़क निर्माण में होने वाली त्रुटियां भी महत्वपूर्ण कारण हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने दुघर्टनाओं में कमी लाने के लिए सड़कों के निर्माण व संधारण के लिए जिम्मेदार एजेंसियों को उचित प्रशिक्षण के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें   छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस की दस्तक! अलर्ट मोड पर स्वास्थ्य विभाग

इसके परिपालन में लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंताओं, अनुविभागीय अधिकारियों एवं उप अभियंताओं के लिए सी.आर.आर.आई., नई दिल्ली के माध्यम से यह प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। विभाग के 55 सहायक अभियंताओं/अनुविभागीय अधिकारियों और 95 उप अभियंताओं को इसमें प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रशिक्षु अभियंताओं को फील्ड विजिट भी कराया जाएगा।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

ईवीएम मशीनों के प्रदर्शन को मिल रहा अच्छा response रिस्‍पॉन्‍स्‌

avatar

Published

on

प्रतिदिन सैकड़ों लोग समझ रहे कार्य प्रणाली

बिलासपुर, 27 फरवरी/भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए जिला निर्वाचन कार्यालय सहित सभी तहसील कार्यालयों में ईवीएम मशीन का प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोग इसका अवलोकन का इसकी कार्य प्रणाली से अवगत हो रहे हैं। जिला निर्वाचन कार्यालय में इसके लिए दो कर्मचारियों की तैनाती की गई है।

प्रतिदिन सैकड़ों लोग मशीन को देखकर दिलचस्पी के साथ इसकी जानकारी ले रहे हैं। संपूर्ण मशीन का सेट इस प्रकार जमाया गया है कि जिस प्रकार मतदान के दौरान ईवीएम मशीन का उपयोग किया जाता है। मशीन के सेट में कंट्रोल यूनिट, बैलट यूनिट और वीपी पेट मशीन लगा हुआ है।

यह भी पढ़ें   CG: चिटफंड कंपनियों की संपत्ति नीलामी के लिए कोर्ट से आदेश जारी

लोगों को पूरी प्रक्रिया की जानकारी इन कर्मचारियों द्वारा दी जाती है । लोकसभा चुनाव के मद्देनजर इन मशीनों का प्रदर्शन किया जा रहा है ताकि लोग मशीनों की जानकारी हासिल कर बेझिझक अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें। कोई भी व्यक्ति कार्यालयीन समय में आकर मशीनों का अवलोकन कर प्रक्रिया समझ सकते हैं।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

सुने मकान का ताला तोड़कर चोरी करने वाले आरोपी चोर को रतनपुर पुलिस द्वारा चंद घंटो में किया गया गिरफतार

avatar

Published

on

सोने- चाँदी के जेवर, टी.व्ही., रिसीवर, आधार कार्ड, भूमि संबंधी दस्तावेज, आयुष्मान कार्ड, बैंक पासबुक, नगदी रकम 21900 रूपये कुल कीमती 67900 रूपये।
गिरफ्तार आरोपी- विश्राम प्रसाद धीवर पिता गेंदराम धीवर उम्र 38 वर्ष निवासी मोहतराई थाना रतनपुर

मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि दिनाँक 25/02/2024 को प्रार्थी रामचन्द्र धीवर निवासी मोहतराई का थाना उपस्थित आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनाँक 15/02/2024 को प्रार्थी अपने घर में ताला लगाकर रिश्तेदार के घर में शादी कार्यक्रम में ग्राम पोंड़ी थाना सीपत चला गया था। दिनाँक 25/02/2024 को प्रार्थी का लड़का जो अलग रहता है, वह प्रार्थी को फोन कर बताया कि घर का ताला टुटा पड़ा है।

यह भी पढ़ें   सिरगिट्टी पुलिस ने सट्टा खिलाने वालों पर की कार्यवाही, 2 महिला गिरफ्तार

तब प्रार्थी अपने घर वापस आकर देखा तो घर के अंदर रखे टीना के पेटी में रखे सोने- चाँदी के जेवर, टी.व्ही., रिसीवर, आधार कार्ड, भूमि संबंधी दस्तावेज, आयुष्मान कार्ड, बैंक पासबुक, व नगदी रकम 26500 रूपये को कोई अज्ञात व्यक्ति चोरी कर ले गया है। कि रिपोर्ट पर थाना रतनपुर में अपराध पंजीबद्ध कर त्वरित कार्यवाही करते हुये थाना प्रभारी रतनपुर के दिशा निर्देशन पर टीम गठित कर दिनाँक 26/02/2024 को संदेही विश्राम प्रसाद धीवर को अभिरक्षा में लेकर हिकमत अमली एवं कड़ाई से पुछताछ करने पर उक्त मशरूका को चोरी करना स्वीकार किया तथा चोरी गये नगदी रकम मे से कुछ रकम खर्च करना बताने से आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें   Breaking : मिलिशिया कमांडर भीमा को जवानों ने मार गिराया

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी रतनपुर देवेश सिंह राठौर, सउनि चन्द्रकांत डहरिया, प्र.आर. सत्यप्रकाश यादव आर. अजय भारद्वाज, कीर्ति पैकरा, आशीष राठौर, रूपचंद धलेन्द्र की विशेष भूमिका रही।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending